Dosti Shayari, जीने की नयी अदा दी है



जीने की नयी अदा दी है,
खुश रहने की उसने दुआ दी है,
ऐ खुदा मेरे दोस्तों को सालामत रखना,
जिसने अपने दिल में मुझे जगह दी है |
Dosti Shayari, जीने की नयी अदा दी है Dosti Shayari, जीने की नयी अदा दी है Reviewed by Shayari143 Com on February 27, 2018 Rating: 5

No comments:

Powered by Blogger.